Category: आमुख आलेख

0

चीनी माल की टैक्स चोरी रोकेगा जीएसटी

राहुल लाल चीनी माल से तबाह हो रहे भारतीय उद्योगों के लिए जीएसटी एक नई आशा की किरण बनकर कवच के रूप में सामने आया है। अब तक जो चीनी माल चोरी छुपे भारत...

1

कांग्रेस को तमाचे में चमके सिंधिया

-आलोक सिंघई- सागर में कलेक्ट्रेट का घेराव कर रहे उद्दंड कार्यकर्ताओं को नसीहत देने के बहाने नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल भैया ने एक कार्यकर्ता के गाल पर थप्पड़ रसीद कर दिया। कांग्रेस के...

1

शिवराज की पुंगी बजाने मैदान में उतरा सिंधिया राजघराना

-आलोक सिंघई- अटेर उपचुनाव में सिंधिया सल्तनत को चुनौती देना मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को मंहगा पड़ रहा है। किसानों की आड़ लेकर मुख्यमंत्री की हूटिंग शुरु होते ही उनके विरोधी जिस तरह लामबंद...

2

किसान आंदोलन ने राजनीतिक सर्जरी की राह सुझाई

-आलोक सिंघई- देश को प्रखर राष्ट्रवाद की बुलंदियों पर ले जाने का संकल्प करने वाली भारतीय जनता पार्टी की शिवराज सिंह चौहान सरकार अपने प्राण बचाने के लिए गांधीवाद की बैसाखियां तलाश रही है।...

0

ट्रम्प की लताड़ समझ नहीं आती क्या नेताजी

जिस देश में ‘समृद्ध’ नेताओं की कमाई सरकारी दलाली पर निर्भर हो, जहाँ नौकरशाह रिश्वतखोर और उद्योगपति कर-चोर हों, उस देश के बारे में अगर डोनाल्ड ट्रम्प ये कहें कि भारत अरबों डालरों के...

0

रेत खुदाई पर सीएम के बयान ने शासन को असमंजस में डाला़

भोपाल,25 मई। रेत माफिया को संरक्षण देने के आरोपों से बचने में जुटी शिवराज सिंह चौहान सरकार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रहीं हैं। मुख्यमंत्री ने सरकार की पारदर्शिता दिखाने के...

0

संघ को साकार करने वाला जाणता राजा

-आलोक सिंघई- राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अपनी स्थापना के कार्यकाल से ही समाज को संपूर्णता की ओर ले जाने का प्रयास करता रहा है। गद्दारी, परिवारवाद और अवसरवादिता ने उसे जितना बदनाम करने की कोशिश...

0

सत्ता और सेक्युलर के नाते की अंतिम सांसें

(रा.स्व.सं, भाजसं से भाजपा तक) भरतचन्द्र नायक… ‘‘सूख हाड़ ले जात सठ स्वान, निरखि मृगराज’’ लंपटीय तासीर सत्ता लोलुपों का स्वभाव आदि काल से व्यवहार में देखा सुना गया। सांस्कृतिक राष्ट्रवाद से प्रेरित संगठन...

0

बाजारवाद ने बढ़ाई उपभोक्ता की चेतना

– भरतचन्द्र नायक इतिहास और परंपराओं में जीवन का सत्व छिपा होता है, यह सबक की चीज है। इसमें लोकनायक के नायकत्व का स्थान आचार, विचार, व्यवहार भविष्य के लिए सीख देता है। लेकिन...

0

नीयत, नीति और नेता का नेकपन

भरतचन्द्र नायक…. इतिहास बड़ा निर्दयी होता है। शासक और प्रशासक कितना भी महत्वाकांक्षी हो, लेकिन ऐसे शख्स कम ही अपवाद होते है जो समय, परिस्थिति से समझौता नहीं करते। उनके इरादे मजबूत होते है,...